क्या आपने कभी हवा में उडते हुए पहाड़ियों को पार किया है. चिड़ियों की तरह हवा में करतब किए हैं. अगर ये सब नहीं किया है और हवा में उड़ते हुए ऊंचे पहाड़ों की चोटियों को छू लेने की हसरत रखते हैं. तो भीमताल नौकुचियाताल की वादियां आपकों बुला रही हैं.

एडवेंचर टूरिज्म का हब बना नैनीताल

पर्यटन की मानचित्र पर नैनीताल किसी पहचान का मोहताज नहीं. लेकिन अब एडवेंचर्स के शौकीनों के लिए भी यहां बहुत कुछ है. नैनीताल के रामगढ़, मुक्तेश्वर, भीमताल, सात ताल और नौकुचियाल में पर्यटक माउंटेन बाइकिंग, जिपलाइन, रिवर क्रासिंग, रॉक क्लीबिंग के साथ-साथ पैराग्लाइडिंग का भी मजा ले सकते हैं.

सरोवर नगरी के आसमान में पैराग्लाइडिंग

भीमताल नौकुचियाताल क्षेत्र में 12 कंपनियों को पैराग्लाडिंग का लाइसेंस मिला हुआ है. जो यहां पैराग्लाइडिंग की सुविधा उपलब्ध कराती है. आप इन कंपनियों से संपर्क कर सरोवर नगरी के ऊपर आसमान की सैर कर सकते हैं. आसमान से झीलों के शहर का दीदार कर सकते हैं.

न्याय के देवता गोलू देवता का प्रसिद्ध धाम

मनाली की तर्ज पर विकसित होगा नैनीताल ?

आमतौर पर दिल्ली, यूपी, हरियाणा, मध्य प्रदेश के युवा पैराग्लाडिंग के लिए मनाली का रुख करते थे. लेकिन नैनीताल में पैराग्लाडिंग का स्कोप बढ़ने से अब सैकड़ों सैलानी नैनीताल का रुख कर रहे हैं. उत्तराखंड सरकार बीते वर्षों से नैनीताल को एडवेंचर्स गेम्स का हब बनाने की तैयारी कर रही है. जिसके लिए तमाम ट्रैवल एजेंसियों से संपर्क किया गया है. कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जा चुका है. भविष्य में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाना है.

देश में मनाली पैराग्लाइडिंग का सबसे बड़ा हब है. जहां देश ही नही बल्कि विदेशों से भी बड़ी संख्या में सैलानी उड़ान भरकर हवा में रोमांच का अनुभव लेते है. लेकिन अब भीमताल नौकुचियाताल भी पैराग्लाइडिंग की दृष्टि से तेजी से उभर रहा है.

और पढ़ें:  वो हिल स्टेशन जो खूबसूरत में नैनीताल को देता है मात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here