कोरोना संकट में लंबे इंतजार के बाद दुधवा नेशनल पार्क पर्यटकों के लिए खोल दिया गया. कोरोना संक्रमण के चलते दुधवा नेशनल पार्क को पर्यटकों के लिए 18 मार्च से बंद कर दिया गया था. जिसके बाद से अब दुधव नेशनल पार्क को पर्यटकों के लिए खोला गया है.

कोविड गाइडलाइन का करना होगा पालन

पर्यटकों को कोविड गाइडलाइन की हिदायत के साथ दुधवा नेशनल पार्क में एंट्री दी जा रही है. थर्मल स्कैनिंग के साथ मास्क और सैनिटाइजर साथ रखना जरूरी है. कोरोना संक्रमण के चलते बुजुर्ग और बच्चों को दुधवा नेशनल पार्क में आने की इजाजत नहीं है. तो अगर आप परिवार के साथ दुधवा नेशनल पार्क जाने का प्लान बना रहे हैं. तो गाइडलाइन का ध्यान रखें.

दुधवा नेशनल पार्क में आकर्षण

दुधवा नेशनल पार्क में वन्य जीवों को जंगल के माहौल में घूमते देखा जा सकता है. यहां कई प्रजातियों के जीव रहते हैं. जिनमें बाघ, हिरणों की कई प्रजातियां, गैंडे, हाथी, भालू देखे जा सकते हैं. कई एकड़ में फैले दुधवा नेशनल पार्क हमेशा से देश-विदेश के पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रहा है.

गैंडा फेसिंग एरिया में नहीं कर सकेंगे हाथी की सवारी

हालांकि एक निराश कर देने वाली खबर ये है. कि इस बार गैंडा फेसिंग एरिया में हाथी की सवारी करते हुए सैर नहीं कर सकेंगे. दरअसल कोरोना संक्रमण के चलते इस हाथियों की सवारी की व्यवस्था बदल दी गई है. जिसके चलते पर्यटक गैंडा फेसिंग एरिया में नहीं जा सकेंगे.

कैसे पहुंचे?

लखीमपुर शहर देश के सभी शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है. आप लखनऊ, बरेली या फिर दिल्ली, कानपुर से आसानी से सड़क मार्ग से लखीमपुर पहुंच सकते हैं, अगर आप हवाई मार्ग से दुधवा नेशनल पार्क आना चाहते हैं. तो आपको लखनऊ जाना होगा. यहां से सड़क मार्ग से लखीमपुर आ सकते हैं. लखीमपुर से दुधवा नेशनल पार्क की दूरी 90 किमी. है.

इंडो नेपाल बॉर्डर पर स्थित दुधवा नेशनल पार्क के लिए लखीमपुर शहर से कैब, बस, टैक्सी उपलब्ध हैं.

और पढ़े: दुधवा क्षेत्र में बढ़ी गिद्धों की संख्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here