अगर आप कुछ वक्त प्रकृति के बीच बिताना चाहते हैं. तो आप खुद को रानीखेत आने से रोक नहीं पाएंगे.यहां के प्राकृतिक नजारें हैं कुछ ऐसे. जो भी यहां एक बार आया रानीखेत की सुंदरता का कायल हो गया.

यहां की बर्फ से ढकी पर्वत श्रंखला आपको हिमालय का एहसास कराती है. दूर-दूर तक फैली हरियाली और शुद्ध हवा रानीखेत की पहचान कराते हैं. यहां की नैसर्गिक सुंदरता देखकर कहा जाता है. कि जिसने रानीखेत की खूबसूरती नहीं देखी. उसने देश में कुछ नहीं देखा.

रानीखेत को लेकर प्रचलित कहानी

अल्मोड़ा जिले में स्थित रानीखेत चीड़ और देवदार के पेड़ों से घिरा एक सुंदर हिल स्टेशन है. रानीखेत के नाम के बारे में कहा जाता है की सैकड़ों साल पहले एक रानी यहां घूमने के लिए आई थी. लेकिन यहां की प्राकृतिक सुंदरता देख वो इतनी खुश हुई कि यहीं की होकर रह गई. तभी से इसे रानीखेत कहा जाने लगा.

रानीखेत का आकर्षण

रानीखेत का सबसे बड़ा आकर्षण है यहां का विश्व प्रसिद्ध गोल्फ का मैदान.  इस मैदान को उपट कालिका के नाम से भी जाना जाता है.  यहां दूर-दूर तक फैले चीड़ और देवदार के लम्बे और घने पेड़ पर्यटकों को अपनी ओर खींचते हैं.  सुंदर हरी और मखमली घास ओढ़े यह गोल्फ मैदान देशी पर्यटकों के साथ-साथ विदेशी पर्यटकों को भी अपनी ओर खींचता है.

अनलॉक-5 के बाद पटरी पर लौटा पर्यटन कारोबार

कुदरती खूबसूरती से पर्यटकों को अपनी ओर खींचने वाले हिल स्टेशन रानीखेत में कोरोना की वजह से सैलानी नहीं पहुंच पा रहे थे. लेकिन उत्तराखंड में अनलॉक-5 के बाद रानीखेत एक बार फिर पर्यटकों से गुलजार होने लगा है, साथ ही पटरी से उतर चुका पर्यटन कारोबार एक बार फिर मंदी से उबर रहा है. इससे कारोबारियों को एक बड़ी राहत मिल रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here