अगर आप पर्यटन के दौरान कुछ रोमांच भी चाहते हैं. तो भी आपके लिए उत्तराखंड से बेहतर कोई जगह नहीं है. रामनगर में मौजूद जिम कॉर्बेट पार्क आपको पूरा रोमांच देता है.

1173 हेक्टेयर में फैला है जिम कार्बेट

अनलॉक-5 लागू होने के बाद पर्यटकों यहां आना शुरू हो गया है. 1173 हेक्टेयर एरिया में फैले इस जोन में देश के अलग-अलग शहरों से आए पर्यटक सैर कर रहे हैं, और प्रकृति के बीच आकर सुकून महसूस कर रहे हैं.

कॉर्बेट नेशनल पार्क के ढेला और झिरना जोन में वाइल्ड लाइफ का एक अलग ही आनंद है. यहां हाथी, बाघ, गुलदार, जैसा वन्यजीवों के अलावा अलग-अलग प्रजाति के पक्षी भी बड़ी संख्या में हैं. इसके अलावा इन पर्यटन जोनों में जंगल सफारी का भी एक अलग ही मजा है.

फिलहाल जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क का ढेला जोन और झिरना जोन पर्यटन के लिए खोला गया है.

कॉर्बेट नेशनल पार्क में हो सकेंगे बाघ के दीदार

कॉर्बेट नेशनल पार्क में अब सैलानियों को आसानी से बाघों के दीदार हो सकेंगे. लॉकडाउन में कॉर्बेट के बफर जोन में भी बाघों का काफी मूवमेंट दिखाई दिया है. यानि कोर जोन की तरह ही बफर जोन में भी बाघ आते-जाते दिखे. इससे जंगल सफारी के दौरान पर्यटकों को बाघ आसानी से दिखाई देगा.

खास बात यह है कि पाखरो जोन में बनाए जा रहे 35-35 हेक्टेयर में बन रहे बाड़े में भी हर पर्यटकों की बाघ देखने की हसरत पूरी होगी. कॉर्बेट पार्क में भ्रमण पर आने वाले पर्यटक जंगल में बाघ दिखना अपनी किस्मत मानते हैं. कुछ पर्यटकों के मुताबिक वो कई बार कॉर्बट आ चुके हैं. लेकिन उन्हें बाघ का दीदार नहीं हुआ. लेकिन अब बाघों का दीदार पर्यटकों के लिए आम हो जाएगा.

वाइल्ड लाइफ प्रेमियों के लिए खास है जिम कॉर्बेट

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क रोमांचक पर्यटन के लिहाज से एकदम खास है. यहां पर्यटक खुद को प्रकृति से पूरी तरह से जोड़ लेते हैं. हालांकि कोरोना की वजह से यहां का पर्यटन कारोबार पूरी तरह से ठप हो गया था. लेकिन अब एक बार फिर भारी संख्या में पर्यटकों की आवक से ये पार्क फिर से गुलजार हो गया है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here