जब भी घूमने जाने की, ट्रिप प्लान करने की बात आती है. तो बात होती है, मनाली की, शिमला, मसूरी, ऊटी, दार्जिलिंग या फिर ऐसे किसी नामी खूबसूरत पर्यटन की. लेकिन हम आपको उन जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं, जहां जाने में खर्च में भी कम आएगा और आपकी यात्रा का अनुभव वाकई शानदार होने वाला है.

9. औली

उत्तराखंड का ये खूबसूरत हिल स्टेशन करीब 10 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित है. सर्दियों के मौसम में बर्फ सी ढकी पहाड़ियों से लेकर दूर तक फैले बुग्याल अलग ही अनुभव का एहसास कराते हैं.

कैसे पहुंचे

अगर आप हवाई जहाज से सफर कर रहे हैं, देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट तक हवाई सेवा उपलब्ध है. जहां से आप कैब ले सकते हैं. ट्रेन और बस सेवा दूसरे राज्य या फिर शहर से हरिद्वार और देहरादून तक उपलब्ध है. इसके बाद आपको बस या फिर कैब से सफर करना होगा. बस और कैब जोशीमठ या फिर औली दोनों जगहों के लिए उपलब्ध है

क्या है खास:

कृत्रिम झील, घास के मैदान, ट्रैकिंग, गोंडोला सवारी

8. नारकंडा

आमतौर पर लोग शिमला की ट्रिप प्लान करते हैं. लेकिन कम ही लोग जानते हैं, कि शिमला कुछ ही दूर स्थित नारकंड बेहद खूबसूरत है. शिमला से नारकंडा आसानी से पहुंचा जा सकता है. शिमला से बस और टैक्सी दोनों उपलब्ध हैं.

क्या है खास:

हतु पीक, स्टोक्स फार्म, कचेरी में महामाया मंदिर, पैराग्लाइडिंग, राफ्टिंग, माउंटेन बाइकिंग

7. कासोल

पिछले कुछ वक्त में पर्यटन के मानचित्र पर कसोल ने अपनी जगह बनाई है. कसोल में कई ऐसे स्थल है. जो शायद ही कहीं देखने के मिलें. हालांकि कसोल के लिए सीधे कोई बस या फिर ट्रेन सेवा उपलब्ध नहीं है. अगर आप दिल्ली से आ रहे हैं. तो आपको पहले चंडीगढ़ पहुंचना होगा. फिर यहां से कैब ले सकते हैं, नहीं तो बस के जरिए कुल्लू पहुंचे और फिर वहां से बसें और टैक्सियां बदलें

क्या है खास:

शंकुधारी जंगल, पार्वती नदी, पार्वती घाटी, मलाना, तोश, खेरंगा, माणिकरण, ट्रैकिंग, सल्फर स्प्रिंग्स

6. सोलंग घाटी

मनाली के पास स्थित सोलंग वैली एडवेंचर्स लवर्स के लिए जन्नत है. आप यहां ट्रैकिंग, पैराग्लाइडिंग, पैराशूट से आसमान की सैर, घुड़सवारी कर सकते हैं. मनाली से सोलंग वैली की दूरी महद आधे घंटे की है. तो अगली बार जब मनाली जाएं, तो सोलंग वैली जरूर जाएं.

क्या है खास:

गुलाबा, नाग मंदिर, रोहतंग पास, हरे-भरे घास के मैदान, ट्रैकिंग, पैराग्लाइडिंग, कैम्पिंग

5. खज्जर

हरे भरे देवदार के पेड़ों के बीच स्थित खज्जर को देखकर ऐसा लगता है. जैसे कुदरत ने दुनियाभर की खूबसूरती इस एक जगह में लाकर समेट दी हो. आप यहां जंगली घोड़ो को बेपरवाह घास चरते हुए देख सकते हैं.

क्या है खास:

खज्जर झील, गोल्डन देवी मंदिर, ट्रैकिंग, घुड़सवारी, पैराग्लाइडिंग, ज़ोरबिंग

4. मुक्तेश्वर

मुक्तेश्वर की पहचान भगवान शिव से जुड़ी है. यहां स्थित मुक्तेश्वर मंदिर को लेकर कई मान्यताएं हैं. इसके अलावा आकाश की ऊंचाईयों को मापते पहाड़े, समुद्र की गहराइयों को छूटी घाटियां पर्यटकों को आकर्षित करती हैं.

क्या है खास:

मुक्तेश्वर मंदिर, चौली की जाली, मुक्तेश्वर बंगला, विंटर गेम्स

3. बिंसर

नैनीताल अगर झीलों का शहर है. तो बिंसर वन्यजीव प्रेमियों के लिए जन्नत से कम नहीं. यहां आपको गोरल्स, लाल लोमड़ी, ईगल, काले भालू देखने को मिल जाएंगे

क्या है खास:

बिंसर वन्यजीव अभयारण्य, खाली एस्टेट

2. कौसानी

बिंसर से कुछ ही दूरी पर स्थित कौसानी अपने शानदार चाय एस्टेट के लिए जाना जाता है. यहां कई ऐसे स्थल है, जिन्हें आप देखना चाहेंगे

क्या है खास:

बैजनाथ झील, अनाशक्ति आश्रम, पंत संग्रहालय, शाल एम्पोरियम, लखुदियार, ट्रैकिंग

1. मुनस्यारी

उत्तराखंड का मुनस्यारी एक ऐसा पर्यटन स्थल है, जहां पर्यटक कम ही संख्या में पहुंचते हैं. लेकिन अगर आप यहां का सफर तय करते हैं. तो आपकों एक अलग ही एहसास होगा. यहां का मौसम, खूबसूरत नजारे आपकी यात्रा को शानदार बनाते हैं. आप ट्रेन के जरिए काठगोदाम और काठगोदाम से बस के जरिए मुनस्यारी पहुंच सकते हैं

क्या है खास:

बर्थी फॉल्स, मैडकोट गांव, पटैटो फार्म्स, डार्कोट गांव, बेटुलिधर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here