लॉकडाउन खत्म होने के बाद काफी लोग छुट्टियां मनाने के बारे में सोच रहे हैं, ट्रिप प्लान कर रहे हैं. लेकिन सबसे बड़ा सवाल बजट का है, आखिर यात्रा पर कितना खर्च आएगा ?

किसी भी ट्रिप को प्लान करने, या फिर यात्रा पर जाने के दो तरीके होते हैं, एक किसी जगह के बारे सोचिए, किसी कंपनी का टूर प्लान लीजिए और निकल जाइए. दूसरा जगह के बारे जानकारी जुटाइए, और यात्रा पर आने वाले खर्च के बारे में खुद प्लानिंग कीजिए.

तो चलिए हम आपको बताते हैं, अगर आप पूर्वोत्तर के राज्य सिक्किम की यात्रा करना चाहते हैं, तो कितना खर्च आएगा, कैसे आप ट्रिप प्लान कर सकते हैं.

 

भूटान और चीन सीमा से सटे सिक्किम पहुंचना बेहद आसान है, आप दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु और देश के दूसरे शहरों से हवाई सेवा के जरिए पहुंच सकते हैं. हवाई अड्डे से निकलने के बाद कैब के जरिए सिक्किम की राजधानी गंगटोक पहुंच सकते हैं.

दूसरा आप पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के लिए ट्रेन पकड़े, और फिर यहां से आप कैब के जरिए गंगटोक पहुंच सकते हैं. जलपाईगुड़ी से कैब के जरिए गंगटोक का सफर कोई चार घंटे का है.

गंगटोक में होटल बहुत महंगे नहीं है…

दूसरे टूरिस्ट डेस्टिनेशन की तरह गंगटोक में होटल बहुत महंगे नहीं है. एक बार आप गंगटोक पहुंच गए तो आप कैब के जरिए आसानी से गंगटोक घूम सकते है. सबसे अच्छी बात ये कि इस पर ज्यादा खर्च भी नहीं आएगा,

यात्रा प्लान: दो लोग/ तीन दिन

यात्रा पर खर्च:
हवाई सेवा: दिल्ली- गंगटोक (रिटर्न टिकट के साथ) करीब 5000 रु.
ट्रेन: दिल्ली- न्यू जलपाईगुड़ी रिटर्न किराया: 1200 रु. (स्लीपर) , 6000रु. (एसी)
न्यू जलपाईगुड़ी-गैंगटोक कैब का किराया: 5400 रुपये

खाने पर खर्च

करीब 8000 रुपये

साईट देखने का खर्च

लाचुंग ट्रिप: करीब 8000 रु.

पीलिंग ट्रिप: करीब 8500 रु.

ठहरने का खर्च  

गैंगटोक : 3000 रुपये प्रति रात

क्या घूम सकते हैं :

मोनेस्ट्री, सोम्गो लेक, बाबा मंदिर

यमतांग वैली, ट्विन फाल्स, हॉट स्प्रिंग और सिंग्बा सेंचुरी

पीलिंग मोनेस्ट्री, रिम्बी वाटर फॉल, खेचेओपलरी लेक

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here